क्या आप जानते हैं कि इनकम टैक्स के द्वारा जब रेड की जाती है तो उसमें बरामद कैश ज्वेलरी और अटैच की गई संपत्ति का क्या किया जाता है?

इनकम टैक्स रेड में जप्त कैश, ज्वेलरी और प्रॉपर्टी का क्या होता है

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के द्वारा की जाने वाली रेल की जानकारी गोपनीय होती है। अधिकांश लोगों को नहीं पता होता कि रेड में बरामद कैश ज्वेलरी का क्या किया जाता है।                        .

जब इनकम टैक्स विभाग को किसी की द्वारा की जा रही टैक्स चोरी के बारे में पता चलता है तो एक टीम उसकी पूरी कुंडली खंगालती है।                          .

अधिकारियों के पास जब टैक्स चोरी की पुख्ता सबूत आ जाते हैं तो रेड की जाने वाली जगहों को चिन्हित किया जाता है।                           .

रेड से संबंधित सर्च वारंट प्राप्त किया जाता है और सर्च अभियान में एक बड़ी टीम को लगाया जाता है।                                  .

सर्च टीम और संदीप की पहचान को गुप्त रखा जाता है। सर्च टीम को नहीं पता होता कि किस जगह पर रेड डालनी है। सर्च की जानकारी सीलबंद लिफाफे में दी जाती है।

रेड के समय सभी प्रकार के कनेक्शन को प्रतिबंधित कर दिया जाता है और घर के लोगों को भारी व्यक्तियों से संपर्क करने की मनाही होती है।

इनकम टैक्स विभाग द्वारा रेड में जब किए गए गैस तथा ज्वेलरी आदि का अनुमान लगाया जाता है और चोरी किए गए टैक्स की रकम को उस में से काट लिया जाता है।

चोरी किए गए टैक्स की रकम पेनल्टी के साथ पूरी होने के उपरांत शेष राशि को असल मालिक को लौटा दिया जाता है।                          .

संपत्ति लौट आने के बाद भी मालिक पर टैक्स चोरी करने के जुर्म की अलग से कार्यवाही चलती है।                                    .